Pandit Sriram Sharma Acharya

Pandit Sriram Sharma Acharya

Shriram Sharma Acharya, a pioneer of spiritual renaissance was born on 20th September 1911, in Anwalkheda, Agra District. He scrupulously carried out the biddings of his Guru, a great Himalayan Yogi, when he was fifteen years of age.

A sage, a visionary and a reformer, the Acharya initiated a movement for transformation of era, lived a disciplined life of devout austerity, visited the Himalayas several times and attained spiritual eminence.

The Gayatri Pariwar fraternity with its more 3000 social reform centers (Shakti-peeths) are his greatest contributions to the modern world.

He translated the entire Vedic Vangmaya and accomplished a feat of writing more than 3000 books on all aspects of life.

The Acharya, Great devotee of Gayatri lived an ideal life for 80 years and voluntarily shed his physical sheath on Gayatri Jayanti, 2nd June 1990.

Researcher Topic Name University
डॉ. मन्दाकिनी शर्मा श्रीरामकृष्ण परमहंस एवं आचार्य श्रीराम शर्मा के दार्शनिक विचारों का तुलनात्मक और विवेचानात्माका अध्ययन (डी.लिट्ट.) भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय
डॉ. सुशीला गुप्ता प्रज्ञा पुराण- एक अध्ययन (डी.लिट्ट.) मेरठ विश्वविद्यालय
डॉ. गोविन्द मिश्रा पं. श्रीराम शर्मा आचार्य के साहित्य में उपासना, साधना और आराधना गोरखपुर विश्वविद्यालय
डॉ. पूनम सिंह पं. श्रीराम शर्मा आचार्य के साहित्य में युग-चेतना जौनपुर विश्वविद्यालय
डॉ. मंदाकिनी शर्मा पं. श्रीराम शर्मा आचार्य का सर्वांगीण दर्शन आगरा विश्वविद्यालय
डॉ. दीनदयाल शर्मा प्रज्ञा पुराण का सामाजिक एवं सांस्कृतिक अध्ययन मेरठ विश्वविद्यालय
डॉ. वर्षा वानखेड़े पं. श्रीराम शर्मा आचार्य के साहित्य में नारी-संवेदना सागर विश्वविद्यालय
डॉ. उमा अग्रवाल पं. श्रीराम शर्मा आचार्य एवं संत कबीर के साहित्य में दार्शनिक मान्यताओं का तुलनात्मक अध्ययन मेरठ विश्वविद्यालय
डॉ. उषा खण्डेलवाल आध्यात्मिक मान्यताओं का वैज्ञानिक प्रतिपादन (पं. श्रीराम शर्मा के सम्बन्ध में) जबलपुर विश्वविद्यालय
डॉ. गायत्री किशोर त्रिवेदी गायत्री-सावित्री : एक अध्ययन कानपुर विश्वविद्यालय
डॉ. सविता द्विती पं. श्रीराम शर्मा आचार्य के शिक्षादर्शन का आलोचनात्मक अध्ययन फैजाबाद अवध विश्वविद्यालय
डॉ. शशिकांत त्रिपाठी संस्कार परम्परा द्वारा समाजोत्थान की दिशा में गायत्री परिवार की भूमिका जौनपुर विश्वविद्यालय
डॉ. रमेश परमार पं. श्रीराम शर्मा आचार्य का शिक्षण-चिंतन सूरत विश्वविद्यालय
डॉ. सुलोचना शर्मा पं. श्रीराम शर्मा आचार्य का समाज-दर्शन गढ़वाल विश्वविद्यालय
डॉ. हेमाद्रि साव Physiological and Behavioral Responses of Human Subjects following Japa, Yagya (Yajna) and selected Yogic Exercises गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय
डॉ. कृष्णा झरे मानवतावाद : एक दार्शनिक अनुशीलन (आचार्य श्रीराम शर्मा के विशेष सन्दर्भ में) हेमवती नन्दन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय
डॉ. आलोक कुमार Rural Social Transformation : A Study of the Impact of Yug Nirman Movement चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय
डॉ. इन्द्रेश पाथिक वैदिक चिन्तन के परिप्रेक्ष्य में पं. श्रीराम शर्मा गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय
डॉ. विजय कुमार मिश्र वैदिक चिन्तन के परिप्रेक्ष्य में पं. श्रीराम शर्मा गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय
डॉ. जे. जे. चौहान पं. श्रीराम शर्मा का राजनीतिक एवं सामाजिक योगदान : एक मुल्यांकन अमरावती विश्वविद्यालय
श्रीमती अंजली सिंह पत्रकारिता में 'अखंड ज्योति' का योगदान गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय
श्री अजय कुमार मिश्र उपनिषद परम्परा में पं. श्रीराम शर्मा आचार्य रचित प्रज्ञोपनिषद की प्रासंगिकता लखनऊ विश्वविद्यालय, लखनऊ
श्रीमती विजयलक्ष्मी निगम अध्यात्मिक पत्रकारिता में 'अखंड ज्योति' का योगदान कानपुर विश्वविद्यालय
श्रीमती विद्योत्तमा रस्तोगी प्राचीन भारत में सूर्योपासना : एक विवेचन गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय
सुश्री रश्मि शुक्ला पं. श्रीराम शर्मा आचार्य का युगीन कर्मकाण्ड : एक विवेचन कानपुर विश्वविद्यालय
श्रीमती महिमा महेश्वरी पं. श्रीराम शर्मा आचार्य के साहित्य में लोकमंगल की भावना जीवाजी विश्वविद्यालय, ग्वालियर
ओंकार नाथ पाण्डेय Social Changes and Yug Nirman Movement of Shantikunj - A Geographical Study गोरखपुर विश्वविद्यालय
भावना द्विवेदी पं. श्रीराम शर्मा आचार्य के वांगमय में मानव चेतना - एक समीक्षात्मक अध्ययन गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय हरिद्वार
ममता अरोड़ा पं. श्रीराम शर्मा आचार्य का सर्वांग शिक्षा-दर्शन एवं उनके शिक्षा सम्बन्धी प्रयोगों का मूल्यांकन दयानन्द महिला प्रशिक्षण महाविद्यालय, कानपुर
राजीव कुमार वर्मा पं. श्रीराम शर्मा आचार्य के सामाजिक विचार : एक समाजशास्त्रीय अध्ययन डॉ. भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय, आगरा
गोविन्द शुक्ला अभिनव समाज के नवनिर्माण में गायत्री परिवार की भूमिका - एक समाजशास्त्रीय अध्ययन (पं. श्रीराम शर्मा आचार्य के सन्दर्भ में) कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय, सेमरियां, रीवां
गुलाबराव पांसे पं. श्रीराम शर्मा आचार्य के दर्शन में मृत्युपरक जीवन परिदृश्य पर आधारित दार्शनिक अनुशीलन हमीदिया कॉलेज, भोपाल विश्वविद्यालय
श्रीमती शशिकला पं. श्रीराम शर्मा आचार्य का आचार दर्शन आधुनिक दार्शनिक सन्दर्भ में : एक अध्ययन गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय हरिद्वार
Site Started on : March 7, 2011 and Last Updated on : Monday, September 08, 2014 11:50 AM